Graduation kya hai Kaise Kare – Graduation (ग्रेजुएशन ) की फीस जानें |

Graduation kya hai Kaise Kare पूरी जानकारी – दोस्तों ‘ग्रेजुएशन’ शब्द किसी भी विद्यार्थी के लिए बहुत ही सामान्य शब्द है और प्रत्येक छात्र को इसकी पूरी जानकारी होना आवश्यक है।

यदि आप ग्रेजुएशन के बारे में नही जानते हैं तो इस पोस्ट को पूरा पढिये। इस पोस्ट में आपको ग्रेजुएशन के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त होगी। सबसे पहले हम जान लेते हैं ग्रेजुएशन क्या होता है ?

Advertisement

इस पोस्ट में हमने इन बिन्दुओ के बारे में बताया है –

Graduation kya hai Kaise Kare – ग्रेजुएशन क्या होता हैं ?

 

Graduation (ग्रेजुएशन) , जिसको हिंदी में ‘स्नातक‘ कहते हैं। यह तीन या चार वर्षों का एक डिग्री कोर्स होता है अर्थात जब आप यह कोर्स complete कर लेते हैं तो आपको डिग्री की उपाधि प्राप्त होती है।

Graduation kya hai kaise kare
Graduation kya hai kaise kare

दोस्तों जब तक आपको डिग्री के फाइनल रिजल्ट और सरिफिकेट नही मिलते तब तक आप अंदर ग्रैजुएट मतलब UG कहलायेंगे। ‘UG‘ जिसका फुल फॉर्म है ‘Under Graduate‘.

Graduation kya hota hai – ग्रेजुएशन कौन कर सकता है ?

 

ग्रेजुएशन करने के लिए सबसे पहले आपको किसी भी बोर्ड (जैसे- CBSE बोर्ड, ICSE बोर्ड या STATE बोर्ड) से दसवीं कक्षा पास होना चाहिए अर्थात उसका रिजल्ट और सर्टिफिकेट आपके पास होना चाहिए।

उसके बाद इसी तरह से किसी भी बोर्ड के द्वारा कक्षा 12 भी पास होना आवश्यक है और कक्षा 12 का रिजल्ट और सर्टिफिकेट होने आवश्यक है। तभी आप ग्रेजुएशन ( स्नातक) का कोर्स कर सकते है |

Graduation me kon sa subject le – ग्रेजुएशन में कौन सा सब्जेक्ट लें?

 

उपर्यक्त दोनों तथ्यों को जानने के बाद आपके मन में यह सवाल अवश्य आया होगा कि ग्रेजुएशन करना हो तो किस सब्जेक्ट से करना ठीक होगा?

तो चलिए मैं आपको बता दूँ, सबसे पहले तो आप यह जानिए की ग्रेजुएशन आपके करियर के शुरुआत का पहला स्टेप है ।

मतलब यह कि सबसे पहले आप यह सुनिश्चित कीजिये कि आपको किस क्षेत्र में अपना करियर बनाना है और उसी के अनुसार आपको अपना विषय (सब्जेक्ट) चुनना होगा।

जैसे, यदि आप डॉक्टर बनना चाहते हैं तो आपको MBBS की डिग्री लेनी होगी, अगर इंजीनियर बनना है तो B. Tech करना होगा।

इसी तरह आप अन्य कोर्स BBA, B.A, B.Com , B.Sc, L.L.B इत्यादि कोर्स अर्थात आपको जिस क्षेत्र में जाना है उसके अनुसार विषय लेकर आप उस क्षेत्र में अपने सपने साकार कर सकते हैं।

आप जो भी कोर्स करना चाहते है, उसे कमेंट बॉक्स में जरुर बताइए |

Graduation me Admission – ग्रेजुएशन में एडमिशन कैसे होती है?

 

ये एक बहुत बड़ा सवाल है जो अक्सर कई छात्रों के मन में आते हैं कि आखिर ग्रेजुएशन में एडमिशन की क्या प्रक्रिया होती है?

दोस्तों, ग्रेजुएशन कराने के लिए प्रत्येक यूनिवर्सिटी अपने-अपने Entrance Exam (प्रवेश परीक्षा) का एप्लीकेशन फॉर्म अपलोड करते हैं जिन्हें आप ऑनलाइन उनकी वेबसाइट पर जाकर भर सकते हैं।

फिर वे यूनिवर्सिटी एक निश्चित तारीख को एग्जाम करवाते है जिसमे आपको जाकर परीक्षा देनी होती है और पास होने पर आपको उस यूनिवर्सिटी या उससे संबंधित कॉलेज में एडमिशन मिल जाता है।

बहुत सारे कॉलेज असे भी होते है , जिसमे आपको एंट्रेंस एग्जाम देने की जरूरत नही होती और आपका एडमिशन डायरेक्ट हो जाता है , अगर आप इस बारे में जानना चाहते है तो कमेंट कर के जरुर बताये |

ग्रेजुएशन प्राइवेट कॉलेज से करे या रेगुलर कॉलेज से?

 

ग्रेजुएशन प्राइवेट कॉलेज से करना ठीक होगा अथवा रेगुलर कॉलेज से? ये सवाल अक्सर ही संकोच पैदा करते है। तो सबसे पहले ये जानते हैं कि प्राइवेट कॉलेज क्या है और रेगुलर कॉलेज क्या है?

दोस्तों, लगभग सारे कॉलेज प्राइवेट और रेगुलर दोनों courses कराते हैं।

graduation kya hota hai , graduation ki fees
graduation kya hota hai , graduation ki fees

प्राइवेट कॉलेज का अर्थ है कि आपने एडमिशन ले लिया अब आपको कॉलेज में क्लास नही करने है आप कॉलेज सिर्फ एग्जाम देने जाएँगे मतलब आपके attendance कैलकुलेट नही किये जायेंगे।

जबकि रेगुलर का अर्थ है कि एडमिशन के बाद जब से भी कॉलेज में आपके क्लासेज शुरू होंगे आपको जाना है और 75 परसेंट attendance होने आवश्यक है।

Graduation ki fees kitni hoti hai – ग्रेजुएशन की फीस कितनी है ?

 

जैसे कि अब आप सभी जान ही चुके है कि ग्रेजुएशन के अंतर्गत बहुत सरे कोर्स होते है, जैसे कि बीए , बीएसी , बीकॉम , इंजीनियरिंग इत्यादि,|

इन् सभी कोर्सेज की फीस भी बिलकुल अलग अलग होती है ,एक और बात जो कि आपको पता होनी चाहिए कि किसी भी कोर्स की फीस कॉलेज के उपर भी निर्भर करती है |

ये भी पढ़े – बैंक में आसानी से ऑफिसर कैसे बने ?

सारे कॉलेज की फीस अलग अलग होती है, सरकारी कॉलेज की फीस अलग होती है और प्राइवेट कॉलेज की फीस अलग होती है |

फिर भी हम अनुमान लगाये तो सरकारी कॉलेज में बीए के एक साल की फीस करीब 4000 रूपये से लेकर 8000 रूपये तक हो सकती है, वहीं बीकॉम के एक वर्ष लगभग इतनी ही होती है |

बीएसी कोर्स की फीस थोड़ी ज्यादा होती है क्यूंकि बीएसी में आपको Practical भी कराये जाते है, अगर हम सरकारी कॉलेज में बीएसी की एक साल की फीस की बात करे तो ये लगभग 6000 से लेकर 10000 रूपये हो सकती है |

अगर हम प्राइवेट कॉलेज में इन कोर्सेज के फीस की बात करें तो 1 वर्ष की फीस लगभग 15000 से लेकर 25000 रूपये हो सकती है |

ये भी पढ़े – BA में कौन-कौन विषय होते हैं ? 

ये भी पढ़े – बीएससी में कौन-कौन से सब्जेक्ट होते है ?

ये भी पढ़े –  बी.कॉम क्या होता है?

ग्रेजुएशन करने के क्या फायदें हैं?

 

वैसे तो शिक्षित होना आपको अपने आप में सुदृढ बनाता है आपकी पर्सनालिटी को निखारता है। इसके अतिरिक्त आपको कई नए अवसर प्रदान करता है।

अगर मैं ये कहूँ कि आजकल ग्रेजुएशन करना एक जरूरी आवश्यकता है तो कुछ गलत नही होगा। क्योंकि आजकल छोटे जॉब के लिए भी आपके पास डिग्री होना आवश्यक होता है।

इसके अलावा अगर आप किसी भी बड़े पद पर (जैसे- IPS ऑफिसर, इनकम टैक्स ऑफिसर, IAS ऑफिसर या बैंक में नौकरी इत्यादि) सरकारी नौकरी करने में इच्छुक हैं तो स्नातक की डिग्री बहुत जरूरी है।

इसके अतिरिक्त आप ग्रेजुएशन में अपने पसंदीदा विषय लेकर उस क्षेत्र में भी अपने करियर की शुरआत कर सकते हैं।

Conclusion

 

दोस्तों आशा करता हूँ कि उपर्युक्त विवरण जिसमे हमने बताया कि “Graduation kya hai Kaise Kare” से आपका स्नातक शब्द से सम्बंधित सारे सवालों के जबाब मिले होंगे, और यदि आपके मन में और भी सवाल हैं तो हमसे कमेंट में जरूर पूछे।

जिससे आपके सारे सवालों के जबाब मिल सके । आपको यह पोस्ट कैसी लगी कमेंट बॉक्स में ये भी जरूर बताएं और इस पोस्ट को अपने दोस्तों से भी साझा करें।

BHU की ऑफिसियल वेबसाइट – वाराणसी की बेस्ट यूनिवर्सिटी

हमारा एक youtube चैनल भी है जिसका नाम है “Ayush Arena” , Youtube पर हमारे चैनल को भी जरुर देखे |

Comments 6

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *