AYUSH ARENA

GK Quiz Competition

Post Graduation kya hota hai | पोस्ट ग्रेजुएशन फीस , योग्यता, करियर आप्शन

Post Graduation (PG) kya hota hai –

Post graduation course
Post graduation course

इस आर्टिकल में आप जानेंगे पोस्ट ग्रेजुएशन क्या होता है? नाम के अनुसार आपको इसमें पोस्ट ग्रेजुएशन से जुड़ी हर जानकारी मिलेगी।

जैसे पोस्ट ग्रेजुएशन किसे कहते हैं? पोस्ट ग्रेजुएशन कैसे करें, pg course kya hai और पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद क्या करें।

पोस्ट  ग्रेजुएशन की सारी जानकारी आपको इस एक आर्टिकल में इतनी अच्छी तरह से मिल जाएगी कि दूसरे आर्टिकल पढ़ने की जरूरत ही नहीं होगी। इसीलिए मेरे दोस्तों आप इसे पूरा पढ़ लीजिये |

पोस्ट ग्रेजुएशन हायर डिग्रियों में से एक है और इसलिए पोस्ट ग्रेजुएशन करने के फायदे बहुत सारे होते हैं। और वो सभी फायदे जानने के लिए आपको ये आर्टिकल पूरा पढना जरूरी है |

आज हम आपको बताएंगे

  • Post Graduation kya hota hai (पीजी कोर्स क्या होता है )
  • Post Graduation kaise kare (PG kaun kar sakta hai)
  • ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में क्या अंतर है
  • Post Graduation course
  • Post Graduation ke baad kya kare (career after post graduation/pg)
  • Post Graduation/pg karne ke fayde

Post Graduation kya hota hai (पीजी क्या होता है )

Post Graduation kya hota hai

सबसे पहले यह जानना जरूरी है कि पोस्ट ग्रेजुएशन किसे कहते हैं? (पोस्ट ग्रेजुएशन का क्या मतलब है?)

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स डिग्री कोर्स होता है जिसे बैचलर यानि ग्रेजुएशन की पढ़ाई पूरी करने के बाद किया जा सकता है।

पोस्ट ग्रेजुएशन को हिन्दी में परास्नातक या स्नातकोत्तर कहते हैं।

Post Graduation meaning in Hindi is परास्नातक/ स्नातकोत्तर। यानि जो स्नातक (ग्रेजुएशन) से ऊपर का लेवल है।

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स को ही पीजी कोर्स भी बोलते है |

Post Graduation kya hota hai ? – Video

Post Graduation kaise kare (PG kaun kar sakta hai) ?

2. Post Graduation kaise kare (pg kaun kar sakta hai) ?

अब बात करते हैं कि

Post graduation course kaise kare? PG Course कैसे करें ?

  • सबसे पहले किसी भी विषय से  ग्रेजुएशन पूरा करें।
  • बैचलर डिग्री प्राप्त करें।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन जिस विषय में करना चाहते हैं वह तय करें।
  • पीजी कोर्स में एडमिशन लें।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन करें।
  • आप बारहवीं के बाद सीधे पांच साल का इंटीग्रेटेड कोर्स जैसे इंटीग्रेटेड एमएससी भी कर सकते हैं।

अब आपके मन में सवाल होगा कि

पीजी यानि पोस्ट ग्रेजुएशन कौन कर सकता है?

पोस्ट ग्रेजुएशन हर वह व्यक्ति कर सकता है जिसने अपना ग्रेजुएशन पूरा कर लिया हो।

यानि अगर आप बीए, बीकॉम जैसे डिग्री कोर्स पूरे कर चुके हैं तो आप पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

आप रेग्युलर या प्राइवेट दोनों तरह से पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं। ये इस बात पर डिपेंड करता है कि आपका सब्जेक्ट क्या है।

जरूरी नहीं कि आपको ग्रेजुएशन के तुरंत बाद ही पोस्ट ग्रेजुएशन करना होगा। आप कुछ समय का ब्रेक ले सकते हैं। बहुत से लोग ऐसा करते हैं।

ध्यान रखें कि हर कोर्स और यूनिवर्सिटीज के नियम के अनुसार रेग्युलर मोड में पीजी करने की एक एज लिमिट होती है। उसके बाद आप प्राइवेट मोड से ही पोस्ट ग्रेजुएशन कर सकते हैं।

ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में क्या अंतर है ?

दोस्तों ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन दोनों ही डिग्री कोर्स हैं लेकिन इनमें कुछ अंतर होते हैं।

ग्रेजुएशन तीन से चार साल का होता है। पोस्ट ग्रेजुएशन दो साल का होता है। MLib जैसे कुछ कोर्स एक साल के भी होते हैं।

ग्रेजुएशन में आपको किसी स्ट्रीम के कांबिनेशन वाले विषय पढ़ने होते हैं। पोस्ट ग्रेजुएशन में एक ही विषय पढ़ना होता है। यानि अगर आप आर्ट्स से ग्रेजुएशन कर रहे हैं तो आपको हिन्दी, अंग्रेजी, साइकोलॉजी, भूगोल, इतिहास, राजनीतिशास्त्र, अर्थशास्त्र जैसे सब्जेक्ट्स में से कुछ कांबिनेशन चूज करने होंगे।

पोस्ट ग्रेजुएशन आप अपने ग्रेजुएशन के किसी भी एक विषय में कर सकते हैं।

ग्रेजुएशन करने की मिनिमम क्वालीफिकेशन बारहवीं है। पोस्ट ग्रेजुएशन करने के लिए मिनिमम क्वालीफिकेशन ग्रेजुएशन है।

ग्रेजुएशन के बाद आपको बैचलर डिग्री मिलती है। पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद आपको मास्टर की डिग्री मिलती है।

इसके अलावा Graduation aur post graduation me सबसे महत्वपूर्ण अंतर है नॉलेज का।

जब आप पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं तो आप अपने सब्जेक्ट के expert बन जाते हैं।

इसे भी पढ़े – ग्रेजुएशन में कौन-कौन से कोर्स होते है ?

Post Graduation course (पीजी कोर्स क्या है )?

पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स के बहुत से ऑप्शन होते हैं। कुछ ऐसे पीजी कोर्स हैं जिन्हें किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन के बाद किया जा सकता है।

जैसे एमबीए, एमए (भूगोल, इंग्लिश लिट्रेचर)।

अब जानते हैं कुछ पॉप्युलर पीजी कोर्स क्या हैं?

कुछ पॉप्युलर पीजी कोर्स क्या हैं?

  • एमए (M.A)
  • एमकॉम (M.COM)
  • एमएससी (M.SC)
  • एमडी (M.D)
  • एमएस (M.S)
  • एमटेक (M.TECH)
  • एमबीए (MBA)
  • एमएसडब्ल्यू (MSW)
  • एमसीए (MCA)
  • एमएड (M.ED)

इनके अलावा भी बहुत ऑप्शन हैं। यदि आप और जानकारी चाहते हैं तो कमेंट सेक्शन में बताएं।

Post Graduation kya hota hai
Post Graduation kya hota hai

Post Graduation ke baad kya kare (career after post graduation/pg)

पोस्ट ग्रेजुएशन करने पर सबके मन में यह सवाल आता है कि पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद क्या करें? दोस्तों career after post graduation/pg बहुत सारे हैं।

  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद आगे पढ़ाई करें
  • Post Graduation course के बाद आप आगे किसी और विषय में पीजी कर सकते हैं। आप चाहें तो आगे एमफिल या पीएचडी की तैयारी कर सकते हैं।
  • आपके सब्जेक्ट के अनुसार आप आगे रिसर्च की फील्ड में भी जा सकते हैं।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद जॉब या बिजनेस करें
  • अगर आप आगे न पढ़ना चाहें तो पीजी कोर्स के बाद जॉब या अपना खुद का काम शुरु कर सकते हैं।
  • आप अपने सब्जेक्ट की कोचिंग दे सकते हैं। बैंक में जॉब कर सकते हैं। आप बीएड करके टीचिंग में कैरियर बना सकते हैं।

 

Career after PG Course –

अब सब्जेक्ट के अनुसार डीटेल में जानते हैं career after PG Course

कॉमर्स

कॉमर्स  – अगर आपने कॉमर्स स्ट्रीम के सब्जेक्ट्स में से किसी में पीजी किया है तो आप मार्केटिंग, सेल्स, बैंकिंग, फाइनेंस और इन्श्योरेंस जैसे सेक्टर में अच्छा कैरियर बना सकते हैं।

साइंस (मैथ्स/कंप्यूटर/आईटी)

साइंस (मैथ्स/कंप्यूटर/आईटी)– इन स्ट्रीम के सब्जेक्ट्स में से एक में पीजी करके आप आईटी और टेक्निकल फील्ड में जा सकते हैं। आप ISRO और DRDO जैसे prestigious संस्थानों में काम कर सकते हैं।

आर्ट्स

आर्ट्स– इसके बाद लेखन, प्रिंट और इलेक्ट्रानिक मीडिया, एचआर, सोशल वर्क जैसे जॉब ऑप्शन होते हैं।

साइंस (बायोलॉजी/फार्मेसी/कैमिस्ट्री)

साइंस (बायोलॉजी/फार्मेसी/कैमिस्ट्री)– ये सभी रिसर्च ओरिएंटेड सब्जेक्ट्स हैं। इनके बाद आप आगे रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेक्टर में शानदार कैरियर बना सकते हैं।

बहुत सी सरकारी और प्राइवेट लैब्स, फूड एंड ड्रग कंपनीज, केमिकल फैक्ट्रीज, एग्रीकल्चर फील्ड में इन कैंडिडेट्स को नौकरी मिल सकती है।

पोस्ट ग्रेजुएशन के बाद कॉम्पिटीटिव एग्जाम की तैयारी करें ?

हालांकि ज्यादातर कॉम्पिटीटिव एग्जाम में मिनिमम क्वालीफिकेशन ग्रेजुएशन होती है पर बहुत से स्टूडेंट्स पीजी कोर्स के बाद भी इनकी तैयारी करते हैं। यूपीएससी के कुछ एग्जाम हैं

जहां पीजी जरूरी है। इसके अलावा यूजीसी नेट एग्जाम के लिए भी पोस्ट ग्रेजुएशन जरूरी है।

आप बैंक पीओ, रेलवे, पुलिस, पोस्टल सर्विस जैसे विभागों के एग्जाम दे सकते हैं।

इसे भी पढ़े – ग्रेजुएशन के बाद टीचर बने

इसे भी पढ़े – आईएएस ऑफिसर कैसे बने ?

इसे भी पढ़े – न्यूज़ एंकर कैसे बने ?

इसे भी पढ़े – बैंक में PO कैसे बने – सैलरी जानें |

इसके अलावा आप अपने सब्जेक्ट के अनुसार डिफेंस सर्विस की तैयारी भी कर सकते हैं। तो ये थी जानकारी career after post graduation. अब जानते हैं पोस्ट ग्रेजुएशन करने के फायदे।

 Post Graduation/pg karne ke fayde – पीजी कोर्स के फायदे

पोस्ट ग्रेजुएशन करने के फायदे बहुत से हैं।

  • आपकी नाॅलेज बढ़ती है।
  • कैरियर के बेहतर ऑप्शन मिलते हैं।
  • सामाजिक सम्मान मिलता है।
  • आजकल ज्यादातर स्टूडेंट्स ग्रेजुएशन के बाद ही काम करने लगते हैं। ऐसे में एक पोस्ट ग्रेजुएट कैंडिडेट को ज्यादा अहमियत दी जाती है।
  • कई बार ग्रेजुएशन के बाद शुरु किए कैरियर में आपका मन नहीं लगता या इतनी सफलता नहीं मिलती। पोस्ट ग्रेजुएशन से आपके पास एक चॉइस होती है कि आप अपनी फील्ड चेंज कर सकते हैं।
  • प्रमोशन में preference मिलती है।

 

पोस्ट ग्रेजुएशन (पीजी) कोर्स क्या है ?

  • पीजी यानि पोस्ट ग्रेजुएशन एक डिग्री कोर्स है।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन को हिंदी में स्नातकोत्तर कहा जाता है।
  • यह दो साल का होता है।
  • इसके लिए मिनिमम क्वालीफिकेशन ग्रेजुएशन है।
  • कुछ यूनिवर्सिटीज इंटीग्रेटेड पोस्ट ग्रेजुएशन भी कराती हैं।
  • इसमें आप एक साथ ग्रेजुएशन और पोस्ट ग्रेजुएशन में एडमिशन ले लेते हैं और पांच साल पढ़ाई करते हैं।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बहुत से फायदे हैं।
  • आप पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद आगे पढ़ाई, जाॅब या कॉम्पिटीटिव एग्जाम की तैयारी कर सकते हैं।

Conclusion – Post Graduation (PG) kya hota hai –

इस आर्टिकल “Post Graduation (PG) kya hota hai”  में आपने जाना Post Graduation ka kya matlab hai, Post Graduation kaise kare (pg kaun kar sakta hai), Graduation aur post graduation me क्या अंतर है? Post Graduation course, Post Graduation ke baad kya kare (career after post graduation/pg) और Post Graduation/pg karne ke fayde.

आपने देखा कि चाहे किसी भी सब्जेक्ट से पीजी किया जाए, career after post graduation/pg के बहुत विकल्प हैं। आप भी पीजी कोर्स करने के बाद एक शानदार कैरियर बना सकते हैं।

आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं। यह भी बताएं कि आप और

कौन से टॉपिक पर जानकारी चाहते हैं। हमारे होम पेज पर जाकर आप इस तरह के और भी कई informative articles पढ़ सकते हैं।

इनसे आपको कैरियर से जुड़ी बहुत जानकारी मिलेगी।

अगर आपको हमारा काम पसंद आया तो इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें ताकि और लोगों तक भी ये जानकारी पंहुचे।

Leave a Comment