AYUSH ARENA

GK Quiz Competition

[2022] PhD kya hai kaise kare | पीएचडी फीस, योग्यता, सैलरी | पीएचडी के फायदे

दोस्तों इस आर्टिकल में आप पढ़ेंगे PhD kya hai kaise kare.

इसमें हमने PhD से जुड़ी पूरी जानकारी दी है। जैसे PhD की eligibility, admission process, fees, duration, career after Phd और jobsalary after PhD.

हम आपको आर्टिकल के अंत में PhD karne ke fayde भी बताएंगे। इसलिए इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए।

अगर आप किसी यूनिवर्सिटी या कॉलेज में पढ़ाने का सपना देखते हैं, नौकरी करते हुए प्रमोशन का स्कोप ढूंढ रहे हैं या अपने नाम के आगे डॉक्टर लगाना चाहते हैं तो “PhD kya hai kaise kare” ये आर्टिकल आपके बहुत काम आएगा।

Advertisement

बहुत से स्टूडेंट्स पीएचडी करने का सपना देखते हैं। लेकिन उनको इस बात की सही जानकारी नहीं होती कि पीएचडी कैसे करें ? दोस्तों हम आज आपकी मुश्किल आसान कर देंगे।

PhD kya hai – पीएचडी क्या होता है ?

PhD वह सबसे बड़ी योग्यता है जो आप पढ़ाई करके हासिल कर सकते हैं। आप 12th के बाद सबसे पहले ग्रेजुएशन करते हैं फिर पोस्ट ग्रेजुएशन करते हैं। कुछ लोग डबल पोस्ट ग्रेजुएशन भी करते हैं। लेकिन पीएचडी इन सबसे ऊपर है।

पीएचडी क्या है पूरी जानकारी -विडियो

 

इसमें आपको किसी एक सब्जेक्ट या टॉपिक पर बहुत डीटेल में स्टडी करनी होती है, जानकारियां इकट्ठी करनी पड़ती हैं। आखिर में आप एक ऐसी थीसिस (निबंध) तैयार करते हैं जो बिलकुल नई हो। इस तरह आप अपनी नॉलेज तो बढ़ाते ही हैं, आपके काम से दुनिया और
समाज का भी भला होता है।

PhD का Full form

PhD का फुल फार्म होता है Doctor of Philosophy. यानि डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी।

फिलॉसफी शब्द जुड़ा होने पर आप यह मत सोचिएगा कि इसमें फिलॉसफी पढ़नी है।

आप हर उस सब्जेक्ट में PhD कर सकते हैं जो अकादमिक पाठ्यक्रम में शामिल है। फिलॉसफी भी इनमें से एक सब्जेक्ट हो सकता है।

पीएचडी कौन कर सकता है – पीएचडी के लिए योग्यता

पीएचडी कैसे करें –

  • सबसे पहले पोस्ट ग्रेजुएशन पूरा करें।
  • पोस्ट ग्रेजुएशन में 55% नंबर होने चाहिए।
  • आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को 5% की छूट मिलती है।
  • हर यूनिवर्सिटी के लिए मिनिमम परसेंट में थोड़ा-बहुत अंतर हो सकता है।
  • पीएचडी की कोई एज लिमिट नहीं है।
  • आप अपने मास्टर के सब्जेक्ट में ही पीएचडी कर सकते हैं।

इनके अलावा भी कुछ क्वालिटीज होना जरूरी है।

आपकी पढ़ाई में रुचि होनी चाहिए। पीएचडी कोई साधारण एग्जाम नहीं है जिसमें आप किसी कुंजी (guide) से उत्तर रटकर पासिंग मार्क्स ले आएंगे। इसके लिए बहुत ज्यादा पढ़ना होता है।

अगर आपका मन किताबों में नहीं लगता तो यह फील्ड आपके लिए नहीं है।

इसके साथ-साथ धैर्य होना जरूरी है। पीएचडी में आपको कम से कम तीन साल लगते हैं। इसीलिए ये सोचकर ही कदम बढ़ाएं कि आप इतना समय दे सकते हैं।

पीएचडी करने के लिए एडमिशन कैसे लें ?

PhD में एडमिशन लेने के लिए आपको एन्ट्रेंस एग्जाम देना होता है।

इसमें सबसे पहले नाम आता है UGC NET का। साइंस के स्टूडेंट CSIR UGC NET exam देते हैं।

एक और एग्जाम होता है जिसे GATE कहते हैं। अगर आप इंजीनियरिंग से जुड़े सब्जेक्ट से पीएचडी करना चाहते हैं तो यह एग्जाम देना होता है।

इसे भी पढ़े – UGC NET Exam क्या है ?

इसे भी पढ़े – GATE Exam क्या है ?

कुछ यूनिवर्सिटीज और इंस्टीट्यूट अपनी तरफ से प्रवेश परीक्षा भी लेते हैं। जैसे JNU PhD entrance, BHU RET, TIFR (टाटा इंस्टीट्यूट के लिए), BITS (बिड़ला इंस्टीट्यूट), AIIMS, BARC (भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर)।

एंट्रेंस एग्जाम पास होने के बाद इंटरव्यू होता है। जो कैंडिडेट्स सलेक्ट होते हैं उनको पीएचडी में एडमिशन मिल जाता है।

कुछ यूनिवर्सिटीज NET या GATE एग्जाम पास करने पर डायरेक्ट एडमिशन भी देती हैं।

ये सभी एग्जाम बहुत मुश्किल होते हैं। लेकिन अगर आप पूरी मेहनत से तैयारी करें तो सब कुछ आसान हो जाता है।

सलेक्शन के बाद आपको एक गाइड या सुपरवाइजर के अंडर पीएचडी करनी होती है। वो आपको गाइडलाइन, कोर्स की पूरी जानकारी दे देते हैं। उसके मुताबिक आपको स्टडी करनी होती है।

इस दौरान आपको सेमिनारों में भाग लेना होता है। अपने रिसर्च पेपर पब्लिश करने होते हैं और कई तरह की अकादमिक गतिविधियों में भाग लेना होता है।

पीएचडी की फीस कितनी होती है – PhD Fees

PhD ki fees कितनी होती है,

इसके बारे में अक्सर लोग यह सोचते हैं कि यह इतनी मुश्किल और हायर लेवल की पढ़ाई है तो इसकी फीस भी बहुत होगी। दोस्तों ऐसा बिल्कुल भी नहीं है।

अगर सरकारी कॉलेज से पीएचडी की जाए तो साल का 20-25,000 रुपए का खर्च ही आता है और पीएचडी के दौरान आपको कम से कम 30,000 रुपए महीना का स्टाइपेंड भी मिलता है।

इस तरह आप आसानी से अपनी पढ़ाई और रोजमर्रा के खर्च निकाल सकते हैं।

प्राइवेट कॉलेज की फीस ज्यादा होती है। इसमें एक साल का खर्च लगभग 1.5-2 लाख तक आता है।

दोस्तों PhD kya hai kaise kare आर्टिकल में हम आगे आपको बताएंगे career after PhD और PhD करने के फायदे। इसलिए आप आर्टिकल पढ़ते रहिए।

पीएचडी कितने साल का होता है ?

PhD duration आम तौर पर 3 साल की होती है। लेकिन आपको यह सुविधा है कि आप इसे 6 साल तक पूरा कर लें।

इसकी वजह यह है कि आप अपने टॉपिक पर डीटेल में रिसर्च करते हैं। इसके लिए आपको लोगों के बीच जाना पड़ सकता है।

बहुत सा डेटा इकट्ठा करना पड़ता है। इसे रिजल्ट की तरह तैयार करना पड़ता है। फिर थीसिस लिखनी होती है। पीएचडी की थीसिस कम से कम 75-80,000 शब्दों की होती है। इन सबके लिए वक्त चाहिए।

पीएचडी के बाद करियर आप्शन

दोस्तों पीएचडी जितनी मेहनत का काम है, इसका फल भी इतना ही मीठा है।

भले ही आप PhD करके एक लंबा समय बिता देते हैं। लेकिन एक बार इसे पूरा करने पर आपका भविष्य उज्जवल होता है।

यानि PhD करने के बाद आपको बहुत फायदे है।

PhD kya hai kaise kare
PhD kya hai kaise kare

PhD के बाद अगर आप चाहें तो टीचिंग में अच्छा करियर बना सकते हैं।

आप सोचेंगे कि ग्रेजुएशन के बाद भी तो बीएड करके टीचर बन सकते हैं। फिर इसी करियर के लिए PhD karne ke fayde kya hai? लेकिन दोनों मेंफर्क है।

इसे भी पढ़े – सरकारी टीचर कैसे बने ?

इसे भी पढ़े – बीएड क्या है पूरी जानकारी

इसे भी पढ़े – M.Phil (एमफिल) कोर्स क्या है ?

PhD करके आप यूनिवर्सिटीज और कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर जैसे बड़े पद पर काम करते हैं, आगे जाकर आप प्रोफेसर बन सकते हैं।

आपकी सैलरी और भत्ते भी एक टीचर की तुलना में काफी ज्यादा होते हैं। सामाजिक रुतबा भी बहुत ज्यादा होता है।

आपने अगर किसी कॉलेज की एडमिशन बुक या मैगजीन ध्यान से देखी होगी तो उसमें वहां पढ़ाने वाले स्टाफ की क्वालीफिकेशन भी दी जाती है। इसमें उनके नाम के आगे अक्सर डॉक्टर लगा होता है।

इसके अलावा भी बहुत सारे सेक्टर हैं जहां पीएचडी करके अच्छा करियर बनाया जा सकता है। इनके बारे में अगले सेक्शन में पढ़िए।

पीएचडी के बाद जॉब और सैलरी –

  • PhD ke baad job and salary आपके सब्जेक्ट पर निर्भर करता है।
  • साइंस सब्जेक्ट के लोग रिसर्च एंड डेवलपमेंट सेक्टर में जॉब कर सकते हैं।
  • लॉ सब्जेक्ट से पीएचडी करके आप लीगल फर्म जॉइन कर सकते हैं। आप सरकारी क्षेत्र में भी एक लीगल एडवाइजर बन सकते हैं।
  • साहित्य से जुड़े कैंडिडेट्स मीडिया, साहित्य अकादमी, भाषा अनुसंधान से जुड़ी संस्थाओं से जुड़ सकते हैं।
  • पीएचडी करके आप औसतन 5-10 लाख सालाना सैलरी से शुरुआत कर सकते हैं।
  • योग्य और अनुभवी लोगों के लिए तरक्की की कोई सीमा ही नहीं है।

 

PhD करने के फायदे –

अब जानिए PhD karne ke fayde

  1. आप अपने सब्जेक्ट के एक्सपर्ट बन जाते हैं।
  2. अगर आपने NET या GATE क्लीयर किया है तो पीएचडी करते हुए अच्छी स्टाइपेंड मिलती है।
  3. आपके रिसर्च पेपर इंटरनेशनल लेवल पर छप सकते हैं।
  4. इससे आपको दुनियाभर में पहचान मिलती है।
  5. आपके पास देश-विदेश में काम करने के मौके आ जाते हैं।
  6. आप नाम के पहले डॉक्टर लिखने लगते हैं।
  7. जरूरी नहीं है कि आप मास्टर की पढ़ाई पूरी करके तुरंत पीएचडी करें। आप कुछ समय का गैप रख सकते हैं।
  8. इससे यह फायदा होता है कि पहले आप एक जॉब कर सकते हैं। इससे कुछ एक्सपीरियंस हो जाता है। बाद में जॉब से थोड़ा ब्रेक लेकर आप पीएचडी कर सकते हैं।
  9. इस तरह से आपके पास अपनी जॉब में तरक्की और सैलरी बढ़ाने का बहुत अच्छा रास्ता बन जाता है।
  10. महिलाओं को पीएचडी के दौरान मातृत्व अवकाश यानि मेटरनिटी लीव लेने की छूट होती है।

पीएचडी क्या है कैसे करें ?

  • पीएचडी डॉक्टरेट डिग्री है। यह सबसे बड़ी क्वालिफिकेशन होती है।
  • इसमें 3-6 साल का समय लगता है।
  • इसके लिए आपको पोस्ट ग्रेजुएट होना चाहिए।
  • मिनिमम मार्क्स 55% होने चाहिए।
  • पीएचडी के लिए UGC NET, RET, GATE, BITS जैसी प्रवेश परीक्षा देनी होती है।
  • PhD में आपको अपने सब्जेक्ट की बहुत गहराई में पढ़ाई करनी होती है।
  • PhD करके आप यूनिवर्सिटीज और कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर बन सकते हैं।
  • बहुत सी सरकारी और प्राइवेट संस्थाएं पीएचडी किए उम्मीदवारों को बढ़िया पैकेज देती हैं।

दोस्तों अगर आपने ऊपर दी गई जानकारी पूरी तरह पढ़ ली है तो आपको समझ आ गया होगा कि PhD kya hai kaise kare.

निष्कर्ष

दोस्तों इस आर्टिकल में आपने पढ़ा PhD kya hai kaise kare. हमने आपको इस विषय से जुड़े हर पलू के बारे में बताया जैसे PhD की eligibility, admission process, fees, duration, career after PhD, job & salary after PhD और PhD karne ke fayde.

आपको यह आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट करके जरूर बताइए। अगर कोई सवाल या सुझाव हो तो भी जरूर बताएं।

इस आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें। ताकि जो लोग नहीं जानते PhD kya hai kaise kare उन तक यह जानकारी पंहुचे।

आप हमारा होम पेज विजिट करके और भी बहुत से ज्ञानवर्धक आर्टिकल पढ़ सकते हैं। अगर आपको हमारा काम पसंद आया हो तो हमें सब्स्क्राइब करना न भूलें।

Article by – NIDHI NEER

होम पेज पर जाएँ – यहाँ क्लिक करें 

Leave a Comment