AYUSH ARENA

GK Quiz Competition

संज्ञा किसे कहते है (What is noun in hindi) – आसान भाषा में परिभाषा, भेद, उदाहरण

संज्ञा किसे कहते है? (What is noun in hindi)

इस लेख में हम हिंदी व्याकरण के अंतर्गत आने वाले संज्ञा को पढ़ेंगे। संज्ञा क्या होता है (What is Noun in Hindi),

संज्ञा की परिभाषा, इसका उदाहरण, इसके प्रकार और भी बहुत कुछ जानेंगे हम इस आर्टिकल में। इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप संज्ञा को पूरी तरह से जान जाएंगे।

Advertisement

तो आइए इस लेख की शुरुवात करते है। किसी भी चीज को अच्छे से जानने के लिए उसके परिभाषा को जानना चाहिए। तो आइए संज्ञा की परिभाषा को जान लेते है।

हिंदी व्याकरण में संज्ञा का एक महत्पूर्ण स्थान है। इसे आप व्याकरण के लगभग हर अध्याय में पाएंगे। इसलिए इसे ठीक से पढ़ना और समझना बहुत आवश्यक है।

What is noun in hindi

संज्ञा की परिभाषा ( Definition of Noun in Hindi) :- किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान या भाव के नाम को संज्ञा कहते है। जैसे: राम (व्यक्ति), टेबल (वस्तु), दिल्ली (स्थान), और ईमानदारी (भाव)

अथवा

संज्ञा एक विकारी शब्द है जिसका अर्थ नाम होता है। दुनिया में लगभग हर चीज का नाम होता है और उस नाम को ही संज्ञा कहते है।

उदाहरण

  • राम पढ़ने जाता है।
  • श्याम ईमानदार है
  • ताजमहल आगरा में स्थित है।
  • वह मेज पर खड़ा है।
  • नरेंद्र मोदी भारत के प्रधानमंत्री है।

इन सभी वाक्यों में बोल्ड किए हुए शब्द संज्ञा है। राम, श्याम, ईमानदार, ताजमहल, आगरा, मेज और नरेंद्र मोदी।

संज्ञा को गिना नहीं जा सकता। संज्ञा की संख्या अनंत है। पर आपने कभी सोचा है की संज्ञा कितने तरह के होते है। इन्हे पढ़ने के सहजता के लिए इसे कुछ भागो में बाटा गया है।

संज्ञा के कौन-कौन से प्रकार होते है। आईए हम आपको इनके प्रकार बताते है।

परंपरागत व्याकरण के अनुसार, संज्ञा मुख्य पांच तरह के होते है। इनके नाम निम्न है :-

  1. जातिवाचक संज्ञा
  2. व्यक्तिवाचक संज्ञा
  3. भाववाचक संज्ञा
  4. समूह वाचक संज्ञा
  5. द्रव वाचक संज्ञा

1. जातिवाचक संज्ञा (Commom Noun)

जातिवाचक संज्ञा वैसे संज्ञा शब्दो को कहते है जो किसी एक को न बल्कि पूरे जाति का बोध कराए।
अन्य शब्दो में कहे तो यह पूरे श्रेणी का बोध कराता है।

जैसे:-

  • सभी विद्यार्थी क्लास में पढ़ रहे थे।
  • गाय हरी घास खाती है।
  • सभी लड़के शैतान होते है
  • लड़कियों ने क्लास में शोर मचाना शुरू कर दिया।
  • यह विद्यालय सिर्फ छात्राओ के लिए है।

इन वाक्यों में बोल्ड किए हुए शब्दो को देखेंगे तो आप पाएंगे कि ये किसी खास के लिए नहीं है, बल्कि पूरे समूह विषेश के लिए है। इन्हे ही जातिवाचक संज्ञा कहा जाता है। ये व्यक्ति विशेष न होकर जाति विशेष होते है।

अन्य उदाहरण: शेर, लड़के, पक्षी, लोग आदि।

2. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)

जिस शब्द से किसी खास व्यक्ति, वस्तु या स्थान का बोध उसे व्यक्तिवचक संज्ञा कहते है। ये किसी खास को दर्शाते है अर्थात व्यक्तिवाचक संज्ञा किसी एक को बताता है। इसे व्यक्ति विशेष कहा जा सकता है।

जैसे:-

  • राम विद्यालय में पढ़ने जाता है।
  • रमेश दिल्ली घूमने जाएगा।
  • विराट कोहली क्रिकेट खेलते है।
  • नई दिल्ली भारत की राजधानी है ।
  • अक्षय कुमार एक सफल अभिनेता है।

इन सभी वाक्यों को ध्यान से देखने पर आप पाएंगे की, सभी बोल्ड किए हुए शब्द किसी खास को बता रहे है। इन्हे ही व्यक्तिवाचक संज्ञा कहा जाता है। ये किसी खास व्यक्ति या स्थान को दर्शाते है। इनसे किसी एक का भाव आता है।

जैसे राम यह किसी खास व्यक्ति का नाम है। और जैसे दिल्ली से किसी खास शहर का पता चलता है। इसी तरह अक्षय कुमार किसी खास का नाम है।

अन्य उदाहरण: राहुल, नासिक, लखनऊ, महेश आदि।

3. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)

जो शब्द किसी तरह के भावनाए, गुण अथवा अवस्था को बताते है उसे भाववाचक संज्ञा कहते है। ये मुख्यत भाव और अवस्था को दिखाते है। जैसे:-

  • मैने कल एक बूढ़े आदमी की मदद की।
  • राजकुमारी अत्यधिक सुंदर है।
  • विजय काफी ईमानदार आदमी है।
  • मैने कल एक लंबी सीढी खरीदी।
  • मोहन की सच्चाई पर सबको भरोसा था।

ऊपर के वाक्य में आप सीधे तौर पर भाववाचक संज्ञा को पहचान सकते है। सभी बोल्ड किए हुए शब्द भाववाचक संज्ञा है।

भाववाचक का निर्माण जातिवाचक, सर्वनाम, और विशेषण में प्रत्यय के जोड़ से भी बनाया जा सकता है। आगे इस लेख में हम आपको यह सिखाएंगे।

अन्य उदाहरण: बेइमानी, अच्छाई, क्रोध, मासूमियत आदि।

4. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)

जिस शब्द से पूरे समूह या समुदाय का बोध हो उसे समूह वाचक संज्ञा कहते है। यह समूह हो दर्शाता है। जैसे:-

  • पूरे सेना में से सुरेश सबसे बहादुर है।
  • मैं कल एक गुच्छा अंगूर बगीचे से ले आया।
  • पूरे वर्ग में राजीव सबसे अच्छा बच्चा हैं।
  • कल के मैच में भारत की पूरी टीम मिल कर भी 100 का आंकड़ा नहीं छू पाई।
  • राम अकेले 2 दर्जन केले खा गया।

ऊपर में बोल्ड किए हुए शब्दो को ध्यान पूर्वक पढ़ने पर पाएंगे की ये किसी समूह को बता रहे है। इन्हे ही समूहवाचक संज्ञा कहा जाता है। ये किसी ग्रुप को बताते है।

अन्य उदाहरण: भीड़, सेना, पुलिस, थोक आदि।

5. द्रव्यवाचक संज्ञा (Metarial Noun)

द्रव या धातु (वजन या परिमाण) का बोध कराने वाली संज्ञा को द्रव्यवाचक संज्ञा करते हैं। यह मुख्यत हमारे रोजमर्रा के उपयोग की चीज होती है। जैसे:-

  • मैं कल बनिया के दुकान से चीनी ले आया।
  • चोरों ने पिछली रात घर में रखा सारा सोना चोरी कर लिया।
  • मोहन बनिया के दुकान से 5 किलो तेल ले आया।
  • छोटे बच्चे ने सारा दूध गिरा दिया।
  • कल बाजार में सभी ने ढेर सारा आटा खरीदा।

ऊपर दिए गए वाक्यों में द्रव्यवाचक संज्ञा का इस्तमाल किया गया है। इन्हे आप आसानी से पहचान सकते है।

अन्य उदाहरण: चीनी, नमक, दल, सोना, पानी आदि।

दोस्तों, यह तो थे संज्ञा के परंपरागत भेद। इसके साथ में ही आधुनिक व्याकरण में इसके अलग अलग भेद बताते है। जैसे जीवित और निर्जीव के आधार पर, गणना के आधार पर इत्यादि।


इसे भी पढ़े –

गणना के आधार पर

गणना के आधार पर संज्ञा को दो भाग में बाटा गया है।

1. गणनीय संज्ञा


इस श्रेणी में वैसे संज्ञा शब्दो को रखा जाता है, जो की गिने जा सके। जैसे: पुरुष, महिला, टेबल आदि।

इन्हे हम आसानी से गिन सकते है। जैसे:

  • एक पुरुष
  • एक महिला, एक टेबल

इन्हे आप आसानी से गिन सकते है। इसलिए इसे गणनीय संज्ञा कहा जाता है।

2. अगणनीय संज्ञा

इस श्रेणी में वैसे संज्ञा शब्दो को रखा जाता है, जो की गिने न जा सके। जैसे: दूध, ईमानदारी आदि।

इन्हे आप नही गिन सकते। जैसे:- आप यह नही कह सकते एक दूध, एक ईमानदारी इत्यादि। इन्हे गिना नहीं जा सकता है इसलिए इसे अगणनीय संज्ञा कहा जाता है।

जीवित और निर्जीव के आधार पर इसे भी दो भागो में बाटा गया है

1. प्राणिवाचक संज्ञा

ये वैसे संज्ञा है जो जीवित होते है। जैसे: लड़का, पेड़ आदि। इनमे जान होता है, इसलिए इन्हे हम प्राणिवाचक संज्ञा कहते है।

2. अप्राणिवाचक संज्ञा

ये वैसे संज्ञा होते है जिनमे जीवन नही होता है। जैसे: सड़क, दीवार, लकड़ी आदि। इनमे जान नही होता इसलिए इन्हे अप्राणिवाचक संज्ञा कहा जाता है।

आईए अब हम संज्ञा का प्रयोग करके विभिन्न तरह के शब्द बनाना सीखेंगे। मुख्यत हमे विभिन्न शब्दो से भाववाचक बनाना सीखना होता है।

जैसे जातिवाचक से भाववाचक संज्ञा, सर्वनाम शब्दों से भाववाचक और विशेषण से भाववाचक।

जातिवाचक संज्ञा से भाववाचक संज्ञा

जातिवाचक संज्ञा + प्रत्ययभाववाचक संज्ञा
बालक+पनबालकपन
मित्र+तामित्रता
पुरुष+अपौरुष
युवा+अनयौवन

सर्वनाम संज्ञा से भाववाचक संज्ञा

सर्वनाम शब्द+प्रत्ययभाववाचक संज्ञा
मम+ताममता
अपना+पनअपनापन
अहम+कारअहंकार
मम+त्वममत्व

विशेषण से भाववाचक संज्ञा

विशेषण+प्रत्ययभाववाचक संज्ञा
बड़ा+पनबड़प्पन
मीठा+आसमिठास
सुंदर+तासुंदरता
छोटा+पनछुटपन

संज्ञा से जुड़े कुछ सवाल

प्रश्न – संज्ञा किसे कहते है – What is noun in hindi

  • किसी व्यक्ति, वस्तु, स्थान या भाव के नाम को संज्ञा कहते है।

प्रश्न – संज्ञा के कितने भेद होते है

संज्ञा के मुख्यत पांच भेद होते है।

  1. जातिवाचक संज्ञा (Commom Noun)
  2. व्यक्तिवाचक संज्ञा (Proper Noun)
  3. भाववाचक संज्ञा (Abstract Noun)
  4. समूहवाचक संज्ञा (Collective Noun)
  5. द्रव्यवाचक संज्ञा (Metarial Noun)

प्रश्न – क्या संज्ञा को गिना जा सकता है?

  • दुनिया में हर वो चीज जिसका कोई नाम हो, उसके नाम को संज्ञा कहते है। इसलिए संज्ञा को नही गिना जा सकता।

निष्कर्ष – What is noun in hindi

दोस्तो, ये था संज्ञा की संपूर्ण जानकारी (What is noun in hindi)

इस लेख में हमने संज्ञा के बारे से सबकुछ अच्छे से बताने की कोशिश की है।

उम्मीद करते है कि इसे पढ़ने के बाद आप संज्ञा से भली भाती परिचित हो गए होंगे। आप इस लेख को बार बार पढ़े ताकि आप संज्ञा को अच्छे से समझ सके। फिर भी अगर कुछ पूछना या बताना चाहते है तो आप कमेंट कर सकते है। साथ में ऐसे ही जानकारी भरे आर्टिकल के लिए जुड़े रहे हमसे।

इस आर्टिकल को किसी एक दोस्त के साथ जरुर शेयर करें और अगर आप अपनी gk और करंट अफेयर्स अच्छा करना चाहते है तो हमारे टेलीग्राम चैनल से जरुर जुड़ें –

ज्यादा जानकारी के लिए – होमपेज पर जाएँ

1 thought on “संज्ञा किसे कहते है (What is noun in hindi) – आसान भाषा में परिभाषा, भेद, उदाहरण”

Leave a Comment