AYUSH ARENA

GK Quiz Competition

छुट्टी के लिए आवेदन पत्र (आसान भाषा में)- Leave Application Format in Hindi

Leave Application Format in Hindi – आज का यह आर्टिकल थोड़ा अलग और अनोखा होने वाला है क्योंकि आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं कि अवकाश पत्र (छुट्टी के लिए आवेदन पत्र) सबसे आसान तरीके से कैसे लिखा जाता है।

Advertisement

अब चाहे आप किसी विद्यालय में पढ़ने वाले विद्यार्थी हो या किसी संस्थान में काम करने वाले कर्मचारी अवकाश की तो सब जरूरत पड़ती है और इसके लिए अवकाश पत्र लिखने की जरूरत होती है और हम सभी जानते हैं कि अवकाश पत्र हमेशा औपचारिक ही होता है और इसे लिखते समय हमें इसे लिखने के सही नियम और तरीके का पालन करना पड़ता है क्योंकि आप इसे किसी विद्यालय या किसी संस्थान में जमा कर रहे हैं।

औपचारिक पत्र :

तो आइए सबसे पहले हम जान ले कि औपचारिक पत्र होते क्या है ?

आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि औपचारिक पत्र ऐसे पत्र हैं जो हम अपने किसी सगे संबंधियों को नहीं लिखते बल्कि अपने व्यवसाय से जुड़े लोगों , मुख्य लोगों या औहदे में बड़े लोगों से किसी बात का निवेदन या प्रार्थना तथा किसी बात की जानकारी देने के लिए लिखते हैं।

अगर आप स्कूल में पढ़ने वाले विद्यार्थी हैं तो आप औपचारिक पत्र अपने शिक्षक-शिक्षिकाओं को कोई प्रार्थना करने या अवकाश लेने के लिए लिखते हैं

औपचारिक पत्र एक ऐसा पत्र है जिसमें आप कुछ भी ऐसे ही नहीं लिख सकते हैं, औपचारिक पत्र में आप किसी भी प्रकार के अपशब्दो का प्रयोग भी नहीं कर सकते हैं।

औपचारिक पत्र को लिखते समय आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपने अपने पत्र में अनुशासन और शिष्टाचार को ध्यान में रखा है क्योंकि औपचारिक पत्र आप किसी अपने से बड़े या अपने साथ वाले काम करने वाले को लिख रहे हैं ना कि अपने किसी मित्र को।

किसी अनौपचारिक पत्र के जैसे आप औपचारिक पत्र को किसी भी तरह से या अपने मन की तरह से नहीं लिख सकते हैं उसे लिखने का एक सटीक तरीका या नियम होता है जिसे सब को पालन करना होता है,

ऐसा नहीं है कि औपचारिक पत्र लिखने का तरीका सबके लिए अलग-अलग है , चाहे आप स्कूल के विद्यार्थी हो या किसी संस्थान में काम करने वाले कर्मचारी , सबको एक ही तरह के नियम का पालन करके औपचारिक पत्रों को लिखना होता है।

आजकल के समय में या कहे तो बहुत सालों से ही हिंदी की परीक्षा में भी औपचारिक तथा अनौपचारिक पत्र लिखने को कहा जाता है और और अगर औपचारिक पत्र लिखने को कहा गया है तो ज्यादातर अवकाश पत्र ही लिखने को कहा जाता है।

तो आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको इसी औपचारिक पत्र को हिंदी में औपचारिक ढंग से लिखने (Leave
application format in Hindi) का सही और आसान तरीका बताने वाले है और साथ-साथ आपको यह भी बताएंगे कि औपचारिक पत्र लिखने के लिए कौन-कौन से मुख्य नियमों का पालन करना जरूरी है बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है।

औपचारिक पत्र को हिंदी में लिखने के लिए पैटर्न (Leave application format in Hindi) :

औपचारिक पत्र को हिंदी में लिखने के लिए पैटर्न (Leave application format in Hindi) कुछ इस प्रकार है :-

  1. सबसे पहले आपको बता दें कि आप जिस भी कागज या पेपर पर औपचारिक पत्र लिख रहे हैं वह उस कागज या पेपर के बाई तरफ से शुरू होता है।
  2. इसके बाद “सेवा में” लिखकर उसके नीचे आप जिन्हें पत्र लिख रहे हैं उनके ओहदे या पद का नाम , इसके बाद स्थान का नाम लिखते हैं।
  3. इसके बाद एक लाइन को छोड़कर आपको तारीख लिखने की जरूरत होती है, जिस दिन आप अपने पत्र को जमा किया है या करेंगे।
  4. तारीख लिखने के बाद एक लाइन छोड़कर विषय लिखकर आप जिस भी कारण के लिए पत्र लिख रहे हैं उसे लिखना होता है।
  5. इसे लिखने के बाद ठीक उसके नीचे आप जिन्हें पत्र लिख रहे हैं उन्हें महोदय या फिर महोदया लिख कर और उसके बाद कोमा (,) लगाकर कर संबोधित करना होता है।
  6. महोदया या महोदया लिखें के ठीक नीचे से ही आपको अपने पत्र की मुख्य बातें लिखनी होती है जैसे कि आपको छुट्टी कब से कब तक चाहिए, क्यों चाहिए ,क्या कारण है , आप जिन्हें पत्र लिख रहे हैं हैं उन्हें आपके प्रार्थना स्वीकार करने का निवेदन करना चाहिए यह सब।
  7. यह सब लिखने के बाद आप उनका आभार प्रकट करेंगे जिन्हें आप पत्र लिख रहे हैं तथा उसके बाद कुछ जरूरी जानकारियां लिखेंगे जैसे अगर आप किसी संस्थान में काम करते हैं तो अपना ओहदा और नाम या अगर आप किसी स्कूल के विद्यार्थी हैं अपना नाम , कक्षा और रोल नंबर तथा सेक्शन लिखते हैं।
  8. सबसे मुख्य और अहम बात जो आपको अवकाश पत्र लिखने के समय ध्यान में रखना होता है वह है “अनुशासन और शिष्टाचार” जिसके बिना अवकाश पत्र अधूरा है।
  9. अगर आप ने अपने पत्र में अनुशासन और शिष्टाचार का प्रयोग नहीं किया तो आपका अवकाश पत्र का प्रभाव कम हो सकता है। तो आपको हिंदी में अवकाश पत्र लिखने के लिए उपर्युक्त सभी नियमों का पालन करना होगा।

औपचारिक पत्रो के उदाहरण :

  1. चाचा की शादी में जाने के कारण अवकाश के लिए निवेदन पत्र

सेवा में,

श्रीमान प्रधानाध्यापक जी

बेनाचिटी नेताजी विद्यालय हाई स्कूल (स्कूल का नाम)
दुर्गापुर (जगह का नाम)

दिनांक- xx/xx/xxxx (जिस तारीख को आप पत्र जमा दे रहे हैं)

विषय- चाचा की शादी के लिए 1 सप्ताह की छुट्टी के लिए निवेदन पत्र।

महोदय,

आपसे सविनय निवेदन है कि मेरे चाचा की शादी दिनांक xx/xx/xxxx को तय हुई है जो कि देवघर में हो रही है। इस शादी में मेरा पूरा परिवार जा रहा है जिसके कारण मुझे भी जाना होगा। क्योंकि देवघर मेरे घर से बहुत दूर है तो आने-जाने का समय और शादी के कार्यक्रमों के वजह से मुझे लगभग 1 सप्ताह का समय लग जाएगा और इस 1 सप्ताह मै स्कूल में अनुपस्थित रहूंगी। इसलिए मुझे 1 सप्ताह की छुट्टी की आवश्यकता है।

अतः आपसे विनम्र निवेदन है कि आप मुझे 1 सप्ताह, दिनांक xx/xx/xxxx से दिनांक xx/xxxx तक की छुट्टी प्रदान करें। इसके लिए मैं सदा आपकी आभारी रहूंगी।

धन्यवाद !

आपकी आज्ञाकारी शिष्या
नाम- सिम्मी बरनवाल
कक्षा – 10 th
रोल नंबर- 20
सेक्सन-D

  1. बाइक दुर्घटना में बुरी तरह से घायल होने के कारण अवकाश हेतु आवेदन पत्र

सेवा में,

श्रीमान प्रधानाध्यापक जी

बेनाचिटी नेताजी विद्यालय हाई स्कूल (स्कूल का नाम)
दुर्गापुर (जगह का नाम)

दिनांक- xx/xx/xxxx (जिस तारीख को आप पत्र जमा दे रहे हैं)

विषय- दुर्घटना घटने से जख्मी होने के कारण अवकाश के लिए निवेदन।

महोदय,

आपसे सविनय निवेदन है कि जब मैं अपने ट्यूशन से अपने घर जा रहा था तब मेरी एक दूसरी बाइक से, जो कि मेरे दूसरे तरफ से आ रही थी, उसकी और मेरी बहुत जोर की टक्कर हो गई और मैं इस बाइक दुर्घटना में बुरी तरह से जख्मी हो गया हूं और मेरे पैर में बहुत चोट भी लगी है, जिस कारण मुझे अस्पताल में भर्ती कराया गया तथा जब डॉक्टर ने मेरा इलाज किया तो उन्होंने मुझे 2 सप्ताह तक आराम करने की सलाह दी है और इसी कारण मै विद्यालय में आने में असमर्थ हूं। क्योंकि जख्मी होने के कारण मैं खुद आपके समक्ष उपस्थित नहीं हो सकता इसलिए मैं यह पत्र अपने एक मित्र, जिसका नाम अमित है, के द्वारा भिजवा रहा हूं।

अतः कृपया कर आप मुझे 1 सप्ताह के लिए दिनांक xx/xx/xxxx से दिनांक xx/xxxx तक की छुट्टी प्रदान करें। इसके लिए मुझ पर आपकी बहुत कृपा होगी तथा सदा के लिए मैं आप आपका आभारी रहूंगा।

धन्यवाद !

आपका आज्ञाकारी शिष्य
नाम- अजीत शर्मा
कक्षा – 12 th
रोल नंबर- 25
सेक्सन-B

  1. बुखार होने के कारण प्रधानाचार्य को अवकाश हेतु आवेदन पत्र

सेवा में,

श्रीमान प्रधानाध्यापक जी

बेनाचिटी नेताजी विद्यालय हाई स्कूल (स्कूल का नाम)
दुर्गापुर (जगह का नाम)

तिथि- xx/xx/xxxx (जिस तारीख को आप पत्र जमा दे रहे हैं)

विषय :- बुखार होने की वजह से कक्षा में 3 दिन में अनुपस्थित होने के कारण छुट्टी के लिए आवेदन पत्र।

आदरणीय महोदय,

मैं आपके विद्यालय का कक्षा ग्यारहवीं का छात्र हूं तथा आपसे मेरा यह सविनय निवेदन है कि मुझे पिछले 3 दिनों से बहुत तेज बुखार था और जब मैंने डॉक्टर को दिखाया तो डॉक्टर ने मुझे आराम करने की सलाह दी थी, इसलिए मैं कक्षा में पिछले 3 दिनों से अनुपस्थित रहा।

अतः आप मुझे इन 3 दिनों के लिए अवकाश की मंजूरी दे दें। इसके लिए मैं सदा के लिए आपका आभारी रहूंगा।

धन्यवाद !

आपका आज्ञाकारी शिष्य
नाम- अमित सिंह
कक्षा – 11 th
रोल नंबर- 22
सेक्सन-A

इसे भी पढ़े –

निष्कर्ष – Leave Application Format in Hindi

तो यह थे कुछ औपचारिक अवकाश पत्रों के पैटर्न (Leave application format in Hindi, chhutti ke liye aavedan patra) जिसमें पूर्ण रूप से नियमों का पालन किया गया है तथा शिष्टाचार और अनुशासन का भी पूर्ण रूप से भी ध्यान रखा गया है।

हमने इस आर्टिकल में आपको औपचारिक अवकाश पत्र लिखने का पूरा फॉर्मेट बताया और साथ में ही 3 उदहारण भी दिए जिससे कि आपको और अच्छे से समझ आ जाये कि leave application कैसे लिखते है, उम्मीद है कि आपको ये आर्टिकल पसंद आई होगी –

आप अगर किसी और विषय पर पत्र चाहते है तो कमेंट कर के जरुर बताये और आपको ये आर्टिकल कैसा लगा ये भी कमेंट कर के बताये और इस आर्टिकल को शेयर भी जरुर करें –

GK और करंट अफेयर्स के लिए टेलीग्राम चैनल पर जाएँ – Telegram

हम अपनी वेबसाइट पर शिक्षा, एग्जाम, करियर, कोर्स से जुडी जानकारी देते है तो आप हमारे होम पेज पर जाकर एक बार जरुर देखे –

ज्यादा जानकारी के लिए – होम पेज पर जाएँ

Leave a Comment