Navy Officer kaise bane – योग्यता, मार्क्स, हाइट, उम्र-सीमा, सैलरी की जानकारी

Navy Officer kaise bane – इस आर्टिकल में हम आपको बतायेंगे कि आप किस तरह एक नेवी ऑफिसर बन सकते है , नेवी में जाने के लिए क्या करना पड़ता है पूरी जानकारी मिलेगी |

अगर आप Indian Navy (भारतीय नौसेना) यानी समुद्री सेना में officer rank पर काम करना चाहते हैं और जानना चाहते हैं कि Navy Officer kaise bane (How to become a Navy Officer Full Information In hindi )

तो आप बिल्कुल सही जगह पर आए हैं क्योंकि यहां हमने नेवी ऑफिसर भर्ती प्रक्रिया को विस्तार से बताया है, इसके साथ ही हमने नेवी ऑफिसर बनने के लिए eligibility, qualifications, age limit आदि को भी हिंदी में अच्छे से समझाया है।

एक नेवी ऑफिसर अपने परिवार से दूर रहते हुए अपने देश के समुद्री सीमाओं की रक्षा करता है। अतः अगर आप Navy Officer बन कर देश की सेवा करना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को आगे पढ़ें।

Navy Officer kaise bane
Navy Officer kaise bane

Navy Officer eligibility criteria and qualifications

नेवी ऑफिसर बनने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार का भारत का स्थाई नागरिक होना अनिवार्य है।

इसके अलावा उम्मीदवार का अविवाहित होना भी अनिवार्य है।

Navy Officer educational qualifications

इंडियन नेवी में अलग-अलग ब्रांच में अलग-अलग ऑफिसर रैंक के लिए educational qualifications अलग-अलग निर्धारित की गई हैं।

फिर भी अगर न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता की  बात करें तो फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स सब्जेक्ट से 12वीं पास उम्मीदवार Navy Officer बनने के लिए eligible है।

Navy Officer age limit

Educational qualifications की तरह ही अलग-अलग ब्रांच के ऑफिसर के लिए age limit अलग-अलग निर्धारित की गई है।

Advertisement

फिर भी बात अगर औसत आयु की करें तो 19 से 25 साल तक के उम्मीदवार navy ofificer बनने के लिए eligible हैं। कुछ रैंक के लिए न्यूनतम आयु 16 या 17 साल निर्धारित की गई है।

Navy Officer kaise bane – Video

Navy officer physical requirements

नेवी ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार का शारीरिक और मानसिक रूप से फिट होना बेहद जरूरी है क्योंकि Navy Officer की भर्ती में सबसे अंत में मेडिकल टेस्ट होता है जिसमें उम्मीदवार की physical and mental fitness की जांच की जाती है।

Navy Officer बनने के लिए जो मेडिकल टेस्ट/ फिजिकल टेस्ट किया जाता है उसमें उम्मीदवार की लंबाई, वजह, सीने की चौड़ाई, दृष्टि आदि की जांच होती है।

इसके अलावा उम्मीदवार को कोई ऐसी बीमारी नहीं होनी चाहिए जिससे आगे चलकर नेवी ऑफिसर की ड्यूटी में परेशानी आए।

रैंक अनुसार सही लंबाई, वजन आदि की जांच के लिए ऑफिशियल वेबसाइट देखें। इंडियन नेवी की ऑफिशियल वेबसाइट का लिंक हमने आर्टिकल के अंत में दिया है।

Navy Officer Skills requirements

नेवी ऑफिसर का फॉर्म भरने से पहले आपको उन Skills के बारे में जान लेना चाहिए जिनके बिना आपका नेवी ऑफिसर बनना लगभग असम्भव है।

ऐसा इसलिए, क्योंकि जब नेवी ऑफिसर की भर्ती के लिए SSB Interview होता है तो उसमें अलग-अलग टेस्ट के जरिए उम्मीदवार की skills की जांच की जाती है और इन tests के आधार पर ही उम्मीदवार का सिलेक्शन होता है।

Navy Officer बनने के लिए जिन skills की requirement हैं, वे हैं –

  • उम्मीदवार में कठिन परिस्थितियों में शारीरिक और मानसिक तनाव झेलने की क्षमता होनी चाहिए।
  • उम्मीदवार के अंदर leadership quality होनी चाहिए।
  • देश के प्रति समर्पण, देश के लिए लड़ने की भावना, दृढ़ संकल्प और उम्मीदवार के विचारों की स्पष्टता होनी चाहिए।
  • इसके अलावा, उम्मीदवार को तैराकी आती रहे तो उसे अधिक महत्व दिया जाएगा।

Navy Officer kaise bane –

भारत के नेवी में अलग-अलग शाखाओं में अलग-अलग रैंक पर ऑफिसरों की भर्ती के लिए कुल 3 अलग-अलग तरीके (Methods) हैं।

इनमें से कुछ methods के जरिए भारतीय नौसेना में उम्मीदवार की सीधी भर्ती कर ली जाती है जबकि कुछ methods में परीक्षा के जरिए भर्ती ली जाती है।

Method 1. UPSC द्वारा प्रवेश

  1.  CDSE
  2. NDA & NA exam

Method 2. डायरेक्ट प्रवेश

  1. NCC
  2. 10+2(B.Tech) entry – Undergraduate Level
  3. Musician and Sports entry – Graduate Level
  4. UES

Method 3. INET – Graduate Level

इंडियन नेवी में ऑफिसर बनने के लिए ऊपर बताए गए इन चारों तरीकों के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

Method 1. UPSC द्वारा प्रवेश

UPSC (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) CDSE और NDA & NA exam को आयोजित करवाती है। इन दोनों ही परीक्षाओं के जरिए भारतीय नौसेना में ऑफिसर बना जा सकता है।

‘CDSE’ या ‘NDA & NA’ एग्जाम में से किसी एक एग्जाम को क्वालीफाई करने के बाद उम्मीदवार का इंटरव्यू होता है। यह इंटरव्यू सर्विस सिलेक्शन बोर्ड (SSB) के द्वारा आयोजित किया जाता है।

इंटरव्यू क्वालीफाई करने वाले उम्मीदवार का मेडिकल टेस्ट होता। मेडिकल टेस्ट इंडियन नेवी के द्वारा लिया जाता है।

अगर उम्मीदवार मेडिकल टेस्ट में फिट पाया जाता है तो उसका सिलेक्शन हो जाता है और ज्वाइनिंग के बाद उसे ट्रेनिंग के लिए भेज दिया जाता है।

UPSC द्वारा नेवी में प्रवेश करने वाले ऑफिसर Permanent Commission (PC) की कैटेगरी में आते हैं, अर्थात् वे रिटायरमेंट तक(60 साल की उम्र) नेवी में काम कर सकते हैं।

CDSE – Combined Defence Services Exam

संयुक्त रक्षा सेवा परीक्षा(CDSE) एक साल में 2 बार CDS Exam (I) और CDS Exam (II) के नाम से होता है।

यह एग्जाम ऑफलाइन मोड में होता है।

CDS Exam (I) फरवरी या मार्च के महीने में होता है। जिसके लिए नवंबर महीने में ही UPSC की तरफ से नोटिफिकेशन आ जाता है।

इसके बाद सितंबर या अक्टूबर के महीने में SSB द्वारा इंटरव्यू आयोजित किया जाता है और मेडिकल टेस्ट के बाद अगले साल जनवरी के महीने में उम्मीदवार की ज्वाइनिंग हो जाती है।

CDS Exam (II) अक्टूबर या नवंबर के महीने में होता है। जिसके लिए जुलाई में ही UPSC की तरफ से नोटिफिकेशन आ जाता है।

इसके बाद जनवरी या फरवरी के महीने में SSB द्वारा इंटरव्यू आयोजित किया जाता है और मेडिकल टेस्ट के बाद अगले साल जुलाई में उम्मीदवार की ज्वाइनिंग हो जाती है।

NDA & NA exam – National Defence Academy & Naval Academy Exam

NDA & NA एग्जाम UPSC और IHQ MoD (Army) या ADG के द्वारा संयुक्त रूप से नियंत्रित किया जाता है।

एनडीए/एन ए की परीक्षा ऑफलाइन मोड में होती है।

CDS exam की तरह NDA & NA exam भी साल में दो बार NDA &NA Exam(I) और NDA &NA Exam(II) के नाम से होता है।

NDA &NA Exam(I) अप्रैल में होता है जिसके लिए दिसंबर या जनवरी में UPSC की तरफ से नोटिफिकेशन आ जाता है।

NDA & NA Exam(I) के बाद अगस्त या सितंबर में इंटरव्यू होता है और मेडिकल टेस्ट के बाद अगले साल जनवरी में उम्मीदवार की ज्वाइनिंग हो जाती है।

NDA & NA Exam(II) अक्टूबर या नवंबर में होता है जिसका नोटिफिकेशन जून या जुलाई में ही आ जाता है।

इस एग्जाम के बाद उम्मीदवार का जनवरी या फरवरी में SSB इंटरव्यू लिया जाता है, जिसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है और सबसे अंत में अगले साल जुलाई में उम्मीदवार की ज्वाइनिंग हो जाती है।

Method 2. डायरेक्ट प्रवेश

नेवी में उम्मीदवारों को उनके educational qualifications और योग्यता के आधार पर भी भर्ती किया जाता है।

इसके लिए उन्हें कोई लिखित परीक्षा नहीं देनी पड़ती है। सीधे इंटरव्यू और उसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है जिसे क्वालीफाई करने के बाद उम्मीदवार का सिलेक्शन हो जाता है।

NCC – National Cadet Corps

CDSE भर्ती के नोटिफिकेशन के साथ ही NCC का भी नोटिफिकेशन जारी होता है।

ऐसे उम्मीदवार जिनके पास Naval Wing Senior Division NCC ‘C’ सर्टिफिकेट है और उनके पास B.E. या B.Tech की डिग्री भी है, वे बिना कोई लिखित परीक्षा दिए, सीधे Navy में भर्ती के लिए DGNCC के जरिए इंटरव्यू के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

इंटरव्यू क्वालीफाई करने के बाद सीधे मेडिकल टेस्ट होता है जिसमें अगर उम्मीदवार फिट पाया जाता है तो उसका सिलेक्शन हो जाता है।

10+2(B.Tech) – Undergraduate Level

‘10+2(B.Tech)’ भारतीय नौसेना में सीधे प्रवेश करने की एक स्कीम है।

ऐसे उम्मीदवार जिनके 10 वीं या 12 वीं में इंग्लिश में 50% मार्क्स आए हों और फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स(PCM) स्ट्रीम से 12 वीं में 70% मार्क्स आए हों वे indian navy में 10+2(B.Tech) के जरिए direct entry कर सकते हैं।

ऊपर बताए गए क्वालिफिकेशन के अलावा उम्मीदवार का JEE (Mains) rank होना भी अनिवार्य है।

10+2(B.Tech) की भर्ती भी एक साल में दो बार होती है. JEE (Mains) rank के आधार पर उम्मीदवारों को इंटरव्यू के लिए चुना जाता है।

उम्मीदवार अपने JEE (Mains) rank के एक साल तक ही 10+2(B.Tech) entry के लिए अप्लाई कर सकता है। यानी 10+2(B.Tech) entry के लिए JEE (Mains) rank की validity एक साल मान्य की गई है।

सबसे अंत में इन्टरव्यू के मार्क्स और JEE (Mains) rank के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है, और उम्मीदवारों का सिलेक्शन होता है।

NOTE – 10+2(B.Tech) के जरिए इंडियन नेवी में भर्ती होने पर उम्मीदवार की Permanent Commission(PC) में भर्ती होती है।

Musician and Sports entry – Graduate Level

भारतीय नौसेना में डायरेक्ट प्रवेश को IHQ-MoD (नौसेना)/ DMPR द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

ऐसे अविवाहित उम्मीदवार जो खेल कूद या संगीत के क्षेत्र में प्रोफेशनल हैं और भारतीय नौसेना में काम करना चाहते हैं वे डायरेक्ट प्रवेश ले सकते हैं।

फॉर्म भरने की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सबसे पहले IHQ-MoD (नौसेना) में संगीत और खेल कूद में प्रोफेशनल उम्मीदवारों की उनकी योग्यता के आधार पर छंटाई की जाती है।

इसके बाद, चुने गए candidates को SSB interview के लिए बुलाया जाता है. Interview में select हुए candidates का medical test लिया जाता है।

मेडिकल टेस्ट क्वालीफाई कर लेने पर उम्मीदवार का सिलेक्शन हो जाता है।

UES – University Entry Scheme

ऐसे उम्मीदवार जो इंजीनियरिंग की पढ़ाई के अंतिम वर्ष में हैं और indian navy में टेक्निकल ब्रांच में ऑफिसर बनना चाहते हैं वे University Entry Scheme के जरिए Navy में भर्ती हो सकते हैं।

Indian Navy की सिलेक्शन टीम भारत के AICTE द्वारा मान्यता प्राप्त इंजीनियरिंग कॉलेजों का दौरा करती है और All India merit आधार पर उम्मीदवारों का चयन करती है।

चयनित उम्मीदवारों का सीधे SSB इंटरव्यू होता है, जिसके बाद मेडिकल टेस्ट होता है। इंटरव्यू और मेडिकल टेस्ट क्वालीफाई कर लेने वाले उम्मीदवार का Navy में सिलेक्शन हो जाता है।

Navy Officer kaise bane puri jankari
Navy Officer kaise bane puri jankari

Method 3. INET – Indian Navy Entrance Test

INET (भारतीय नौसेना प्रवेश परीक्षा) ek साल में 2 बार होती है।

यह exam ऑनलाइन मोड में होता है।

इस परीक्षा के जरिए भर्ती हुए उम्मीदवार Permanent Commission (PC) और Short Service Commission (SSC) दोनों के लिए योग्य बन जाते हैं।

Permanent Commission (PC) अर्थात् उम्मीदवार रिटायरमेंट तक काम कर सकता है। जबकि Short Service Commission (SSC) का अर्थ है, उम्मीदवार ज्वाइनिंग के बाद अधिकतम 14 सालों तक नौसेना में काम कर सकता है।

कम से कम 40% अंकों के साथ INET परीक्षा को क्वालीफाई करने के बाद उम्मीदवार को SSB इंटरव्यू के लिए बुलाया जाएगा।

इंटरव्यू और INET के marks का 50 – 50% weightage होता है और इसी के आधार पर अंतिम मेरिट लिस्ट तैयार की जाती है।

इंटरव्यू और INET के marks के आधार पर जिन उम्मीदवारों का सिलेक्शन होता है उन्हें मेडिकल टेस्ट के लिए बुलाया जाता है।

मेडिकल टेस्ट में फिट पाए जाने के बाद उम्मीदवार का फाइनल सिलेक्शन हो जाता है और ज्वाइनिंग हो जाती है।

INET के जरिए उम्मीदवार Indian Navy में इन ranks या शाखाओं में ऑफिसर बन सकता है –

  • Pilot (MR)
  • Pilot (NMR)
  • Observer
  • Air Traffic Contro (ATC)
  • General Service – Executive(GS/X)
  • General Service (Technical – Electrical & Engineering)
  • Hydro
  • Naval Architect
  • Information Technology
  • Logistics
  • Education
  • Naval Armament Inspectorate Cadre (NAIC)

SSB Interview कैसे होता है ?

SSB इंटरव्यू की प्रक्रिया 3 से 5 दिन की होती है जो दो चरणों(stages) में विभाजित होती है।

SSB Interview stage 1 में Picture Perception test, Intelligence test, और Discussion test होता है।

जबकि SSB Interview के stage 2 में Group testing, Psychological testing और interview होता है।

Navy Officer की सैलरी कितनी होती है ?

विभिन्न रैंक और विभिन्न ब्रांच के हिसाब से नेवी ऑफिसर की सैलरी अलग-अलग होती है।

अलग-अलग रैंक के हिसाब से एक Navy officer की minimum monthly salary 56,100 रुपए और maximum monthly salary 2,50,000 तक होती है।

निष्कर्ष – Navy Officer kaise bane

नेवी ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार का 12 वीं में PCM stream होना चाहिए।

इसके बाद उम्मीदवार, NDA या CDS परीक्षा क्वालीफाई करके Indian Navy में Officer बन सकता है।

नेवी ऑफिसर के लिए तैयारी करने से पहले उम्मीदवार को यह जरूर जांच लेना चाहिए कि वह Navy officer के लिए निर्धारित किए गए शारीरिक मानकों पर खरा उतरता है या नहीं क्योंकि ऐसा उम्मीदवार जो Navy officer के लिए निर्धारित किए गए शारीरिक मानकों पर खरा नहीं उतरता उसे सबसे अंतिम चरण में disqualify कर दिया जाता है।

तो दोस्तों हमें आशा है कि अब आप अच्छे से समझ गए होंगे कि ‘Navy Officer kaise bane’.

अगर आपको ये आर्टिकल “Navy Officer kaise bane” पसंद आई तो इसे शेयर जरुर करें और ज्यादा जानकारी के लिए हमारे होम पेज पर जाएँ –

अगर आप Indian Navy से जुड़ा कोई प्रश्न हमसे पूछना चाहते हैं तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करें।

और जानने के लिए – होम पेज पर जाएँ – 

Leave a Comment